The Missing Bunker  { A short story }

​दिसम्बर 22 , 1943  जापान में परमाणु हमले से करीब दो साल पहले , जर्मनी के दक्षिण शहर म्युनिक में । कुछ अमेरिकी टुकड़ीया म्युनिक शहर को अपने कब्जे में ले चुकी थी। पर वो दिन , अमेरिका की एक टुकड़ी , जो अपने दो गुमशुदा सैनिको की खोज में हमेशा की तरह निकली थी... Continue Reading →

Advertisements

The MILLIONAIRE {हिंदी} #1

September 27, 09:10 pm Mughalpura police station ; Lahore Pakistan "बता दे जो पूछ रहे है...वरना अंजाम से तो वाकिफ होगा तू"...थानेदार निज़ाम अली ने रसोइये के मुँह को अपने मोटे हाथो से दबा कर गुस्से में पूछा । "साहब ! उतना ही जानता हूं मैं भी , जितना आप और ये पूरा मुल्क जानता... Continue Reading →

Emergency {short Story}

Government medical college , aurangabad Day#4 regional singing and dancing compitition. Annual function {harmony} तांडव करते महादेव ; रंगमंच के किनारे नंदी बना एक छात्र दंडवत प्रणाम किये पिछले 2 मिनट से यूही बैठा हुआ ; दर्शको का प्रोत्शाहित करने वाला शोर ; माहौल में हल्की हल्की महक गांजे की भी थी ; जिसे गंजेड़ी महादेवजी... Continue Reading →

Bus Stand 【 khaamoshi 】

कभी देखा है बस स्टैंड ; नहीं ; नहीं देखा होगा मेरी नज़र से ; मैं दिखाऊंगा ; तुम पढ़ना ; की बस स्टैंड क्या होता है  और कौन कौन होता है जो वो शहर छोड़ता है और कौन उस शहर में नया है ! ------------------------ This Diwali In Compitition With The Millionaire Written by Kuldeep choudhary... Continue Reading →

आफत 🌘

ऐ खुदा ; आज फिर से लिख दु तो आफत है ; आंसू समेटने आते उसको नहीं ; और लब्ज रुकेंगे मेरे भी नहीं ! आज अगर ना निकला चाँद तो आफत है ; नींद मुझे आती नहीं ; और खवाबो के अलावा वो मिलती कही और नहीं ! माना स्याही बची है कम इश्क़... Continue Reading →

A GIRL AND A NIGHT AT HAUZ KHAS 🌃 (हिंदी) #1

Present day { January 13,2015 } कब्रिस्तान ; ज़िन्दगी भर की मेहनत के बाद लोग यहाँ आकर फिजूल हो जाते है या शायद ज़िन्दगी भर की फिज़ूलियत के बाद यहाँ आकर आज़ाद हो जाते है और तो कुछ पूरी ज़िन्दगी भी नहीं , पहले ही | मैं कब्रिस्तान के दरवाजे पर ही थी , बड़ा सा चौड़ा... Continue Reading →

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: