चलो वहां से चलते है ➡



जिस कहानी के किरदार आप नही बन सकते ;

चलो वहां से चलते हैं !


जिस तारीख आप वहां नही पहुँच सकते ;

चलो वहां से चलते है !


वक़्त खिलोना है ; कांच का ना समझो तो ;

चलो वहां से चलते है !


कांच की बोतल हो , मगर मखमल इश्क़ ना हो ;

चलो वहां से चलते है !


जुगनू रास्ते ना भटका दे ; डर है खो जाने का ;

चलो वहां से चलते है !


औकात है तुम्हारी तो बाटों आसमां को ;

चलो वहां से चलते हैं !


तस्वीरों से आंसू बहते है ; गौर से ना देखो गहराई को ;

चलो वहां से चलते है !


भूल कर लिखो तो माने ; जाले यादो के साफ करेंगे :

चलो वहां से चलते है !


दुआओ में रहते है वो लोग ; हम किस्मत में भी नही ;

चलो वहां से चलते है !

वक़्त ना देने का , इल्ज़ाम धोखा है यहां ;

चलो वहां से चलते है !


इश्क़ अंधा होता होगा , इज्जत का भूखा नही ;

चलो वहां से चलते हैं !


सपनो में उड़ने से नही ; गिर के मरते है यहां लोग ;

चलो वहां से चलते है !


दोस्तो के काम आये ; तरीके अलग है हमारे ;

चलो वहां से चलते है !


रुक कर समझना मेरी लिखी इन बातों को ;

समझो तो बतलाना , साथ चलते हैं !




La`parvaah ©

Kuldeep Choudhary 

Advertisements

5 thoughts on “चलो वहां से चलते है ➡

Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: