Compromise #1


( तनीषा की शादी के दो महीने बाद )

Mumbai-pune express way ( check post )
2:50 pm


“सर ! डिग्गी खोलिये और अपना लाइसेंस बताइये…”लाल आँखों वाले उस पतले कांस्टेबल ने अपना हाथ गाडी के बोनट पर मार कर कहा ।

“कुछ नहीं बस शादी में मिले तोहफे है पीछे और कुछ नहीं ; मुम्बई जल्दी पहुँचना है मुझे , फ्लाइट है मेरी ; जाने दीजीये…”विनीत बड़े शांत तरीके से बोला 

“मैडम i card वापरो !! “…पास वाली सीट पर बैठी तनीशा को देख कर कांस्टेबल ने अपनी आँखों के इशारों के साथ मराठी में कहा ।

और

गाडी के पीछे जाकर डिग्गी को हाथ से जोर से बजाने लगा ।

विनीत ने एक सेकंड कुछ सोच कर डिग्गी का लिवर ऊपर कर दिया ।



साहब ! साहब ! लाश “…कांस्टेबल लाश और अपने बड़े साहब की तरफ बारी बारी  देख कर चिल्लाया ।

ये आवाज उस कांस्टेबल की विनीत के चेहरे को सकपका गयी और तनीशा साइड मिरर की तरफ देख कर मुस्कुरायी ।

” लाश ! क्या ??? “…तनीशा अपने चेहरे पर घब्राह्ट के भाव लाकर दरवाजा खोल बाहर निकल गयी ।

तनीशा के चेहरे को बड़े गौर से देख कर जब उस कांस्टेबल ने लाश के चेहरे को देखा ; उसके कदम खुद-ब-खुद पीछे सरक गए और वो गिर पड़ा ।


साहब !!!!!!!!!!!… ज़मीन पर पड़ा वो घिसकता हुआ तनीशा से दूर होने की कोशिश कर रहा था ।

और होश संभाल कर वो अपनी पूरी ताकत लगा कर चिल्लाया ” साहब लड़की ये भूत है ; इसी की लाश यहाँ पीछे डिग्गी में पड़ी है । “

तनीशा के चेहरे की मुस्कराहट ने उस कांस्टेबल को और डरा दिया !


————————

Be Continued….


Written By

Kuldeep choudhary

The Insider©

Kuldeepjat341990.wordpress.com

Advertisements

5 thoughts on “Compromise #1

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s