The MILLIONAIRE #3 { हिंदी }


September 28 ; evening 7:00 pm

T-360 terrorist training camp ;【 Bhimbhar , pok 】


“उडी में जो हमने हिंदुस्तानी कुत्ते मारे , उसका जलसा आज क्यों कमांडर ?”…एक जेहादी ने जोहद मंसूर से पूछा ।

पाकिस्तानी हुकूमत और कुछ बेहद रसूखदार अल पैसे वाले भी शामिल होना चाहते थे , आज रात देखिएगा , पकिस्तान की अप्सराओं से मिलवाएंगे तुम सभी को”…कमांडर जोहद मंसूर ने बोला ।

___________________


September 28 , ( same time )

Millionaire’s house

Mughapura , Lahore


कुछ बेहद पेचीदा नक़्शे , पुड़कियो में पड़ा सफ़ेद पाउडर , रिवाल्वर की भरी 4 मैगज़ीन , एल्युमीनियम के पतले कागज़ , और टेबल के किनारे पर पड़ा मलमल का चिकना कपडा ।


“जनाब निज़ाम अली आया है”…मुख्य दरवाजे पर तैनात सुरक्षाकर्मी अंदर आकर बोला ।

“आने दो”…मिलियनेयर ने अपनी बैंगनी रंग की tag heur को वक़्त से आधा घंटा पहले मिलाते हुए कहा ।

“आओ निज़ाम , अपने उन तीन आदमियो को ढूंढने आये हो या , मेरे शेफ को फिर…हँसकर मिलियनेयर ने निज़ाम को घूरा ।

कितनी मेहनत की तुमने , माशाल्लाह , हमें बर्बाद करने की , हम अंदाज़ा भी नहीं लगा पाये , ये टेबल पर पड़े पाकिस्तानी आर्मी बेस के नक़्शे , ओह्ह कोकीन भी लेते हो तुम , शक हमें पहले ही था , हमारे हाथ तुम्हारी हिंदुस्तानी हुकूमत का लिखा खत लगा था , जो तुम्हारे लिए दुबई के चाचा शेख ने भेजा था”…निज़ाम ने बोलना जारी रखा ।

मिलियनेयर एक एक करके उन नक्शो को मलमल के कपड़ो में लपेट कर निगलने लगा , फिर आखिरी में वो सफ़ेद पुड़िया भी निगल ली , और निज़ाम के करीब आने लगा ।

“9 साल से पकिस्तान में पल रहे , हिंदुस्तानी जासूस हो तुम”…निज़ाम के कंधों पर मिलियनेयर ने अपने हाथ रखे ।

मेरी आँखों में देखो निज़ाम , तुम्हारी आर्मी मुझे सुरक्षा देती है , तुम्ही लोग मुझे ज़िन्दा रखते हो , 9 साल नहीं 11 साल , तुम ने ढूंढ़ लिया मुझे , ISI तक शक नहीं कर पाई”…कहते कहते मिलियनेयर ने कब अपनी पीठ पे पीछे की तरफ सजाके के रखे चाक़ू को निज़ाम के पेट के दायीं और घुसा दिया , निज़ाम की टूटती साँसों से पता चल रहा था ।

“एक बात और कहू निज़ाम अगर साँसे चल रही हो तुम्हारी तो , मैं 11 साल पहले कराची के रास्ते आया था , , जिस रास्ते तुम्हारा कसाब हिंदुस्तान गया था , जो रास्ता जाने का है , वही आने का भी तो हो सकता है”…मिलियनेयर खून से भरे हाथ निज़ाम अली के काले कोट पर पोछ पर पोंछते हुए बोला ।

सॅटॅलाइट फोन की आवाज फिर पुरे घर में गूंज गयी , मिलियनेयर ने सॅटॅलाइट फोन को कान के लगा कर गौर से सुना , उस मोटी आवाज को…”जल्दी निकलो” ।


_______________________


September 29 ; 12:10 Am

Day Of Surgical Strike

【 Bhimbhar ,pok 】




Will continued in last part #4


Written by

Kuldeep choudhary

The Insider©

Advertisements

2 thoughts on “The MILLIONAIRE #3 { हिंदी }

  1. Hello Mr Insider! So, the story’s here!! ☺☺ This part made it even more confusing, I don’t know aage hone kya wala haiii 😂 And this one is also soo full of horror scenes, specially wo knife wala. Scaryy! Great work again. 😇

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s