अलविदा ! Re’post for cause 🤕

ले कर सारी पुरानी तस्वीरो का बोझ वो जा रही है ; तो जाने दो उसे ;

वफा के बाजार मे खडे , बेवफा लोगो से , सौदे मोहब्बत के किये नही जाते |


वो चाहे अगर महंदी भरे हाथो से गले लगाना मुझे ; तो जाकर कह दो उसे ;

साहिल पर खडे होकर , सपने समन्दर मे डूबने के देखे नही जाते |


अगर वो चाहे कुछ देकर , खरीदना जिन्दगी भर के वास्ते ; तो जाकर कह दो उसे ;

मोहब्बत के खोटे सिक्के , अब इस शहर मे चलाए नही जाते |


अब अगर वो चाहे , भरी महफिल मे रोना सबके सामने ; तो जाकर कह दो उसे ;

भीगी पलको पर , काजल सजाऐ नही जाते |




kuldeepjat341990.wordpress.com

The insider©All Rights Reserved®

Advertisements

5 thoughts on “अलविदा ! Re’post for cause 🤕

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s